अगर आप दिनभर बैठकर काम करते हैं तो जानिए नुकसान

 वर्तमानtension जीवनशैली में काम के दौरान आपको दिन पर कुर्सी पर बैठे रहना पड़ता है या  फिर आप दिनभर कम्प्यूटर पर बैठे रहते हैं तो यह आदत आपको नुकसान पहुंचा  सकती है। 

 जानिए डेस्‍क जॉब से होने वाली पांच बड़ी हानियां और उनसे बचने के उपाय :
 
 दिनभर एक ही स्‍थान पर बैठने की जीवनशैली आपको धूम्रपान की लत से भी अधि‍क नुकसान  पहुंचा सकती है! कई तरह की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं पैदा करने के साथ ही साथ यह आपको भीतर से  भी कमज़ोर कर देती है।

हालांकि देखने में किसी भाग-दौड़ भरी जॉब की तुलना में हमें डेस्‍क-जॉब ज्‍यादा अच्‍छी लगती है, लेकिन शोध ऐसी जीवनशैली के दुष्‍परिणाम दर्शाते हैं।

आज तकनीक की सहायता से वो सारे काम हम अपनी डेस्‍क पर बैठकर ही कर सकते हैं जिसके लिए हमें कभी एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान पर जाना पड़ता था। हालांकि आज हम तकनीकों के प्रयोग से समय ज़रूर बचा लेते हैं लेकिन एक ही स्‍थान पर बैठे रहने की यह जीवनशैली हमें भीतर से खोखला बना रही है।

1) कम्‍प्‍यूटर पर कार्य करने के दौरान पर लगातार कम्‍यूटर स्‍क्रीन को देखते रहते हैं। इससे निकली तरंगें आपकी आंखों को नुकसान पहुंचाती हैं। हालांकि इन तरंगों से बचने के लिए हमारी आंखों में स्‍वत: नमी आ जाती है लेकिन अधिकांश कार्यालयों में एयर कंडीशनर होने के कारण आपकी आंखों में ड्रायनेस या सूखापन जल्‍दी आ जाता है, क्‍योंकि एयर कंडीशनर आपकी आंखों को जल्‍दी सूखने पर मजबूर करते हैं। इसके अलावा कम्‍प्‍यूटर पर लगातार काम करने के कारण आप अपनी गर्दन को भी स्‍थिर रखते हैं जिससे गर्दन की मांसपेशियों में भी जकड़न आ सकती है।

उपाय : थोड़े-थोड़े समय अंतराल के बाद अपनी आंखों को आराम दें। आंखों को बंद करके इनके आसपास अपनी हथेली से हल्‍के हाथ से मालिश करें। 

आंखों को कुछ समय बाद पानी से धोते रहें।

2) लगातार कुर्सी पर बैठे रहने से कमर में दर्द की शिकायत होती है। कुर्सी पर लगातार लंबे समय तक बैठे रहने से आपका रक्‍त-परिसंचरण ठीक से कार्य नहीं करता और कमर की मांसपेशियों में जकड़न आने लगती है। साथ ही लगातार कुर्सी पर बैठने से आपकी हड्डियों के घनत्‍व में भी कमी आ सकती है।

उपाय : लगातार कुर्सी पर बैठने के दौरान कुछ समय अंतराल के बाद कुर्सी पर कमर को आगे-पीछे और दाएं-बाएं घुमाने की कोशिश करें। सुबह और शाम को कमर से संबंधित व्‍यायाम करने की कोशिश करें। व्‍यायाम आपके रक्‍त-परिसंचरण को ठीक रखता है, जिससे भविष्‍य में होने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>